यह कैसी आग है

यह कैसी आग है जिसमें जल रहें है हम,
जलते ही जा रहे, जले से राख बनते नहीं हम…!!

Leave a Reply

Your email address will not be published.