अपनी नाराज़गी कि

अपनी नाराज़गी कि कोई वजह तो बताई होती,

हम ज़माने को छोड़ देते एक तुझे मनाने के लिए…

Leave a Reply

Your email address will not be published.