रोते-रोते थक कर

रोते-रोते थक कर जैसे कोई बच्चा सो जाता है..
हाल हमारे दिल का अक्सर कुछ ऐसा ही हो जाता है|

Posted in Uncategorized